जब BCCI के पास नहीं थे पैसे, Lata Mangeshkar ने मुफ्त में किया शो, दिलाए 20 लाख रुपये

Lata Mangeshkar Death, Lata Mangeshkar once helped raise 20 lakh rs for Indian cricket team: लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) का 92 साल की उम्र में निधन हो गया. लता मंगेशकर ने मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल (Breach Candy Hospital) में अंतिम सांस ली. स्वर कोकिला लता मंगेशकर कोरोना के साथ निमोनिया से भी जूझ रही थी, जिसके बाद उन्होंने आईसीयू में भर्ती किया गया था. 6 फरवरी की सुबह 8:12 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली.

सभी जानते हैं कि लता मंगेशकर क्रिकेट की काफी शौकीन थी. लता मंगेशकर ना सिर्फ क्रिकेट पसंद करती थीं, बल्कि खिलाड़ियों को सपोर्ट भी करती थीं. विश्व कप-1983 के वक्त वह भारत को सपोर्ट करने फाइनल मैच में भी पहुंची थीं.

Lata Mangeshkar
Lata Mangeshkar

लता मंगेशकर ने मैच से एक शाम पहले भारतीय खिलाड़ियों के साथ डिनर किया और उन्हें शुभकामनाएं दीं. अगले ही दिन भारत ने ट्रॉफी अपने नाम कर इतिहास रच दिया. ये भारत का क्रिकेट इतिहास में पहला खिताब था.

जब भारतीय टीम स्वदेश लौटी, तो खिलाड़ियों के सम्मान के लिए बीसीसीआई के पास पैसे नहीं थे. ऐसे में लता मंगेशकर आगे आईं. जब बीसीसीआई अध्यक्ष एनकेपी दास ने लता मंगेशकर से लाइव कॉन्सर्ट करने का आग्रह किया, तो इसी लता मंगेशकर ने स्वीकार कर लिया. ये भी पढ़ें- इस क्रिकेटर के इश्क में ‘कुंवारी विधवा’ बन गुजारी Lata Mangeshkar ने जिंदगी

उस लाइव कॉन्सर्ट से आयोजकों को 20 लाख रुपये मिले, लेकिन लता मंगेशकर ने फीस के नाम पर एक भी रुपया नहीं लिया. सारा पैसे खिलाड़ियों के बीच बांट दिया गया और इस तरह सभी खिलाड़ियों को 1-1 करोड़ रुपये मिले.

Sachin Tendulkar with Lata Mangeshkar
Sachin Tendulkar with Lata Mangeshkar

बीसीसीआई भी लता मंगेशकर का ये एहसान कभी नहीं भूला. जब लता मंगेशकर को अपनी पिता की याद में हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के लिए फंड की जरूरत पड़ी, तो बोर्ड आगे आया और फंट जुटाने के लिए भारत और श्रीलंका के बीच एक मैच खेला गया, जिसका पैसा हॉस्पिटल बनाने के काम आया.

6 फरवरी को भारतीय टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में उतरी. बीसीसीआई ने लता मंगेशकर के निधन पर शोक जताया है. इस मैच में भारतीय खिलाड़ी ब्लैक आर्मबैंड पहने उतरे.

सोर्स- न्यूज 18

error: Content is protected !!